Breaking News

कोरोना का कहर: मध्य प्रदेश के इन जिलों में घर बैठे होगी टेस्टिंग, मोबाइल टीमें फिर होंगी एक्टिव

भोपाल: मध्य प्रदेश में कोरोना ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है. जिसने प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है. बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए एक बार फिर मोबाइल टीमें तैतान की जाएंगी. इसके लिए भोपाल एनएचएम (राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन) ने आदेश भी जारी कर दिए हैं. जारी आदेश के अनुसार जिन 11 जिलों में ज्यादा संक्रमण है, वहां पहले मोबाइल टीमों को तैनात किया जाएगा.

यह काम करेगी मोबाइल टीम 
मोबाइल टीम लोगों के घर-घर जाकर कोरोना टेस्टिंग करेगी और कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग करेगी. कलेक्टर और मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारियों को जारी किए गए आदेश में स्टाफ की अस्थाई नियुक्ति 31 मार्च तक करने की बात भी कही गई है.

इन जिलों में तैनात होंगी मोबाइल टीम
जारी आदेश के अनुसार इंदौर के लिए 30, भोपाल के लिए 20, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन में 10-10 टीमों को दोबारा तैनात किया जाएगा, सागर में 5, खरगोन, बैतूल, बुरहानपुर, छिंदवाड़ा, रतलाम के जिला मुख्यालय पर 1-1 टीम तैनात की जाएगी.

भोपाल-इंदौर में नाइट कर्फ्यू लागू
भोपाल और इंदौर में कोरोना के सबसे ज्यादा मामले हैं. बीते मंगलवार को हुई कोरोना समीक्षा बैठक में तय किया गया है कि इंदौर और भोपाल में महाराष्ट्र से आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग जारी रहेगी. दोनों शहरों में 17 मार्च से अगले आदेश तक नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला लिया गया था. इसके अलावा जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, रतलाम, बुरहानपुर, छिंदवाड़ा, बेतूल, खारगौन में 10 बजे तक ही बाजार खुल सकेंगे.

सीएम शिवराज ने की यह अपील
मध्यप्रदेश में बढ़ते कोरोना के बीच सीएम शिवराज ने एक बार फिर अपील की है. उन्होंने कहा कि  COVID-19 से हमें डरने की जरूरत नहीं, सावधान रहने की जरूरत है. हमें आपका सहयोग चाहिए. मास्क लगाने सहित संपूर्ण कोविड गाइडलाइन का पालन करें. जनता का जीवन सुरक्षित रखने के लिए यदि सख्त कदम उठाने पड़े, तो वो उठाएंगे, लेकिन आर्थिक गतिविधियां नहीं रुकने देंगे.

यह भी पढ़ें: शिकार करने झपटे तीन शेरों से अकेला भिड़ गया मगरमच्छ, देखिए खतरनाक लड़ाई का VIRAL VIDEO

यह भी पढ़ें: मध्यप्रदेश के CM शिवराज ने किया बड़ा ऐलान, गांव-गांव में मिलेगी यह जरूरी सुविधा

प्रातिक्रिया दे