Breaking News

West Bengal Election 2021: अब चुनाव आयोग से 'भिड़ीं' ममता, EC ने दिया दो टूक जवाब

कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधान सभा चुनाव (West Bwengal Assembly Election 2021) में तृणमूल कांग्रेस चीफ व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) अब चुनाव आयोग (EC) से भिड़ गई हैं. ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग पर गंभीर आरोप लगाए हैं, ममता के आरोपों पर चुनाव आयोग ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है.

EC की तरफ से ममता को चिट्ठी

चुनाव आयोग (EC) ने कहा है, सभी पक्षों की शिकायतें सुनी जा रही हैं. सभी दलों की बात सुनने के लिए ही चुनाव पूर्व तमाम दलों से बैठकें कीं. उप चुनाव आयुक्त सुदीप जैन ने सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को एक चिट्ठी लिखी है. चिट्ठी में कहा गया है, आयोग इस बात को कतई पसंद नहीं करेगा कि किसी राजनीतिक दल से कथित निकटता को लेकर उसे सवालों के कठघरे में खड़ा किया जाए. आयोग की तरफ से कहा गया है, 17 दिसंबर 2020 तक दिल्ली और कोलकाता में टीएमसी (TMC) के प्रतिनिधियों से मुलाकात करने के बावजूद मुख्यमंत्री द्वारा आयोग को राजनीतिक दलों से मिलने का सुझाव देना गलत है, यह चुनाव आयोग के महत्व को घटाने की कोशिश होगी.

इस बात से नाराज हैं ममता

बता दें, तृणमूल कांग्रेस चीफ ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) बार-बार EC पर किसी ‘खास’ दल के लिए काम करने का आरोप लगा रही हैं. मंगलवार को ही उन्होंने एक रैली में कहा कि यदि बीजेपी चुनाव आयोग के कामकाज में हस्तक्षेप बंद नहीं करती तो वह आयोग के बाहर धरना देंगी. बनर्जी ने बांकुड़ा के मेजिया में एक चुनावी जनसभा में कहा, ‘बीजेपी उनकी हत्या की साजिश रच रही है क्योंकि पूर्ब मेदिनीपुर के नंदीग्राम में पिछले सप्ताह उनके घायल होने के बाद निर्वाचन आयोग ने उनके सुरक्षा निदेशक विवेक सहाय को हटा दिया.’

‘आयोग बीजेपी का राजनीतिक हथियार’

ममता बनर्जी ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा, क्या आयोग बीजेपी का राजनीतिक ‘हथियार’ बनकर रह गया है. क्या अमित शाह (Amit Shah) निर्वाचन आयोग को चला रहे हैं? आयोग की स्वतंत्रता कहां गई? ममता बनर्जी ने सुरक्षा निदेशक विवेक सहाय को अमित शाह के निर्देश पर हटाने का आरोप लगाया है.

विवाद की जड़?

बता दें, कि नंदीग्राम में एक हादसे में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के घायल होने के बाद चुनाव आयोग (EC) ने ममता बनर्जी के सुरक्षा निदेशक विवेक सहाय और पूर्व मेदिनीपुर के एसपी प्रवीन प्रकाश को निलंबित कर दिया है. चुनाव आयोग ममता पर हमले की बात से भी इनकार कर चुका है. यह हादसा बताया गया है लेकिन ममता व्हील चेयर से चुनावी रैली कर लगातार अपने ऊपर हमले को चुनावी मुद्दा बनाने की कोशिश कर रही हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *