t कोरोना से सतर्कता : समाज ने गणगौर और नवरात्र पर्व के कार्यक्रम किए निरस्त.. — Bharat Live News

कोरोना से सतर्कता : समाज ने गणगौर और नवरात्र पर्व के कार्यक्रम किए निरस्त..

कोरोना वायरस के कारण पहली बार निरस्त किया गणगौर उत्सव कार्यक्रम..

अंजड–राष्ट्र के लिए क्षत्रिय सिर्वी समाज अंजड के पंच व समाजजनों द्वारा गणगौर और नवरात्र पर्व के कार्यक्रम को निरस्त करने का निर्णय लिया गया है। शासन-प्रशासन की ओर से कोरोना वायरस को लेकर जारी किए गए दिशा-निर्देश धारा 144 और विशेष सुरक्षा उपायों का पालन करते हुए समाज एवं जनहित में यह फैसला लिया गया है। यह जानकारी देते हुए सिर्वी समाज के मिडिया प्रभारी सतीश परिहार ने कहा कि इस संबंध में समाजिक स्तर की एक आवश्यक बैठक शनिवार को हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि। नववर्ष गुडीपडवा पर होने वाली सामाजिक बैठक को निरस्त करते हुए प्रतिवर्ष गणगौर पर्व पर माता गौरा बाई और ईशरजी की धूमधाम से निकाली जाने वाली शोभायात्रा और सामाजिक गोठ (प्रसादी) के कार्यक्रम सहित नवरात्र पर्व पर सभी आयोजन, सामुहिक महाआरती नहीं होने कि बात कही। पंच कैलाश चौधरी ने कहा कि केवल नवरात्र पर हवन होगा क्योंकि हवन होने से वातावरण की शुद्धि होती है ,आसपास का क्षेत्र जीवाणु और विषाणु से मुक्त हो जाता है। उन्होंने कहा कि नवरात्र पर्व के दौरान मां जोगमाया की सेवा में केवल पुजारी और एक सहयोगी ही मंदिर में रहेंगे। उन्होंने कहा कि एहतियातन यह निर्णय लेते हुए कोरोना वायरस के संक्रमण पर नियंत्रण के लिए सुरक्षा की दृष्टि से यह कदम उठाए जा रहे हैं। जबकि बड़ी धूमधाम से गणगौर और नवरात्र पर्व पूरा समाज एकजुट होकर मनाता है। इसके अलावा आमजनों से प्रशासन को पुर्ण रुप से सहयोग करते हुए भिडभाड वाली जगहों पर नहीं जा tuने एवं एक जगह पर अधिक लोगों के एकत्रित नहीं होने कि बात कही गई इस अवसर पर क्षत्रिय सिर्वी समाज अंजड के पंच कैलाश चौधरी, जगदीश मुकाती, भगवान जमादारी, लक्ष्मण जमादारी , सुनिल जमादारी, अरुण परमार, पदम परमार, नारायण चोयल, जितेंद्र परमार , मोहन काग सहित कई समाजजन उपस्थित रहे।